अभी ना जाओ छोड़के:भाग 1

आनन्द त्रिपाठी

अभी ना जाओ छोड़के:भाग 1
(54)
पाठक संख्या − 12143
पढ़िए

सारांश

"अभी ना जाओ छोड़के..कि दिल अभी भरा नहीं" विनय ने अपने मन की बात को गीत के माध्यम से रखने का असफल प्रयास किया पर प्रतिउत्तर में केतकी ने खिलखिलाने के बाद कॉल डिसकनेक्ट कर दिया। ये तब की बात है जब कुछ ...
Madhu Chamria
good
रिप्लाय
Puja Kumari
bahut achhi kahani hai
रिप्लाय
manish
,👍👍👍👍👍👍👍
Rajnish Jha
bhai full story ek saath likh dete to kya jata tumhara?
रिप्लाय
Esha Verma
jindagi me harpal kuch alg aur apratyashit ho skta h...
रिप्लाय
Usha Garg
कभी कभी ऐसा भी होता है
रिप्लाय
Shivam Kumar Yadav
nice story
रिप्लाय
krishna mishra
लाजवाब
रिप्लाय
रवि रंजन
बहुत खूब
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.