अब वो आज़ाद है

संगीता सेठी

अब वो आज़ाद है
(18)
पाठक संख्या − 1815
पढ़िए

सारांश

शहर दर शहर बदलते हुए सुधा अय्यर अपनी नौकरी को सहेजे हुए कर्नल पति श्रीराम की कदम ताल से बरसों अपनी ताल मिलाती रही है । पिछले बीस साल में सात शहर बदलती सुधा आर्मी क़्वाटर की देहरी पर लगी “ सुधा श्रीराम
Krishna
कहानी मन को छू गई
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.