अपना सा अजनबी

नेहा अग्रवाल नेह

अपना सा अजनबी
(135)
पाठक संख्या − 27202
पढ़िए

सारांश

मै थोड़ी झल्ली सी थोड़ी शैतान पर थोडी सी अच्छी भी हूँ और नाम है मेरा अविरा ।और आज मेरा MSC का entrance टेस्ट है हमेशा की तरह आज भी किसी भी एक्जाम में वक्त से कुछ ज्यादा ही पहले पहुँच गयी हूँ मै ।पेपर ...
Priyaa Wadhwa
👌👌👌👌👌... Fir aage kya hua
Sita Aryal
Starting achhi hai. Ending incomplete hui. Is kahani ka ant eha is tarah nahi honi chaiye thi. Aap readers ko bhawaayen samajh ke likha kijiye. writer ko khud ko readers ki jagah par rakh kar sochna chaiye. Tabhi aap kahani ke prati nyay kar paoge
janki
Awesome 😊 😊
रिप्लाय
Somesh Ârmo
👌👌👌👌👌
Mohan Sakarwal
अच्छी है
Reema Bhadauria
Byehad khoobsurat story 😊😊
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.