अनोखा त्याग

पारुल शर्मा 'महक'

अनोखा त्याग
(11)
पाठक संख्या − 343
पढ़िए

सारांश

वो अनपढ़, सीधी, सच्ची औरत जो अपने भरे- पूरे परिवार की इकलौती बेटी। सब की लाड़ली जिसे कभी घर में माँ - बाप व भाइयों ने आँखे तक न दिखाई। मन में दर बहुत गहरे समाया हुआ था इतना की जब विद्यालय का पहला दिन ...
Usha Kushwaha
really unbelievable and speechless
रिप्लाय
Mamta Pattanaik
kya baat hai.it's really unique .
रिप्लाय
Geeta Ved
very good 🙏🙏🙏🙏
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.