अनहोनी

खुशबू जैन

अनहोनी
(78)
पाठक संख्या − 8011
पढ़िए

सारांश

आज अचानक उसे देखा बाजार में उम्र का थोड़ा सा असर तो हुआ है पर आज भी चेहरे में वो खिंचाव है कि कोई देखे तो अपनी आंखे ना हटा पाए | ऐसा नहीं कि बहुत खूबसूरत है वो पर कुछ तो है उसकी आंखों में जो सीधा दिल ...
Anuradha Singh
Bhut hi achi kahani 👌👌👍👍💐
Mafatlal Panchal
very nice story & good satisfied end
swatidwivedi
Nice
रिप्लाय
Yogendra Singh
अच्छी रचना के लिए बधाई स्वीकार करें।
रिप्लाय
अरविन्द सिन्हा
Bahut sundar .
रिप्लाय
shilpi
bhaut shandar story hai
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.