अनर्थ

अशोक गुप्ता

अनर्थ
(52)
पाठक संख्या − 4087
पढ़िए

सारांश

महूरत देख कर तारीख निकाली गयी है.... सत्रह नवम्बर. ठेकेदार का मुकद्दम अभी अभी यह खबर लिखा पर्चा दे कर गया है जिसे हरद्वारी हाथ में थामे बैठे हैं. उनकी उँगलियों में फंसा वह पर्चा जैसे कांप रहा है, ...
Rajan Kumar
speechless 🙏🙏🙏🙏
प्रदीप दरक
बहुत अच्छी सोच
J.p. Sharma
So SO NICE REMEMBEREBLE
aashish patel
सोच इंसान को कहीं भी पहुंचा सकती है
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.