Harjinder Juneja
एक औरत और एक आदमी की दोस्ती जो खुद जिया है वो कहेगा कि जीने के लिए ऐसा रिश्ता बहुत ही अच्छा है क्योंकि इसमें बोझ नही है, कोई दवाब नही है, एक दूसरे को वैसे ही स्वीकार किया जाता है जैसा वो है। शादी की सबसे बड़ी परेशानी है उसमें space नही देता कोई। फिर दूसरे को बदल देने की जिद्द, शक, एहम, दूसरे को झुका देखने की जिद्द, और फिर डर । ये सब प्यार को मार देते हैं। पर इतनी ही स्वतंत्रता दोनो पति पत्नी को एक दूसरे को देनी चाहिए कि वो दूसरे को भी दोस्त बना सके।
Rakhi Nautiyal
jb insan pe jimmedariyon ka bojh bad jata h tb insan apne lye khushi dhundta h.chahe wo khushi use family se mile ya baher walo se.
Kiran Sharma
Aaj ke samaj ka such h but baad me sirf or sirf Dard he milta h to apni family ka sath he khush rajia
Chandra Prakash Yadav
बहुत बेहतरीन कहानी है ।
सिमरन जयेश्वरी
बहुत खूब... इससे ज्यादा मेरे पास शब्द नहीं... धन्यवाद😇🙏🏻
रिप्लाय
Divana dipak Dildar
aapneyto mere Dil ki baat likhi is Kahani mein Jo Na mil sake wohi bewafa ye badi ajeeb si baat hai Jo Chala Gaya mujhe chod Kar wo aaj tak mere saath hai
Tejwan Oraon
पढ़ने मे रोचक लगा । आज के सन्दर्भ मे यह हकीकत है । समाज मे ऐसा हो रहा है । किन्तु यह भी सच्चाई है, कि इससे बहुत से परिवार बर्बाद हो गये ।
Seema Arora
bahut hi sundar rachana
Rupa Gurjar
बहुत ही अच्छा लगा ये पढ़कर दोस्त की जरूरत हर मोड़ पर होती है और जिम्मेदारियों में फंसकर हम अपनी जिंदगी तो भूल जाते हैं
भावना ओझा
अगर किसीको तकलीफ ना देते हुए अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए अगर इंसान कुछ पल अपनी खुशी के लिए जिये तो हम कौन होते है उसे सही या गलत कहने वाले हर ऐसे रिश्ते को गलत क्यू समझा जाता है कुछ रिश्ते अनकहे से होकर भी कुछ कह जाते है
Chandan Gupta
बिल्कुल सच्ची घटना जैसा अनुभव होता है
Daya Kushwaha
aapki khani achhi lgi
Vijaykant Verma
बहुत सुंदर कहानी..!यथार्थ..💐💐
1
2
3
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.