अधिक पाने की चाह!

kirti

अधिक पाने की चाह!
(3)
पाठक संख्या − 73
पढ़िए

सारांश

अधिक पाने का केवल एक ही रास्ता है..पहले जो मिला है उसका शुक्रिया करना सीखो!
अचलेश सिंह
बहुत अच्छा लिखा है आपने ।
रिप्लाय
Vidya Sharma
बहुत ही अच्छी और सुंदर सीख दरअसल जीवन में आधे जोक तो हमें दूसरों के सुख से मिलते हैं काश हम दूसरों के दुख में दुखी होना और उनके क्वेश्चन में शामिल होना सीख जाए तो हमारे दुख वैसे ही दूर हो जाए
रिप्लाय
Naresh Gujjar
अच्छी सोच है। बहुत खुब
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.