अंधानुकरण पश्चिम का छोड़ो

जयन्ती प्रसाद शर्मा

अंधानुकरण पश्चिम का छोड़ो
(3)
पाठक संख्या − 181
पढ़िए

सारांश

अंधानुकरण पश्चिम का छोड़ो, नहीं अपनी संस्कृति से मुँह मोड़ो। बिगड़ गये हैं खान पान, बढ़ गई हैं उच्छ्खलतायें। बढ़ गये हैं समाज में पाप कर्म, बलात्कार सी घटनायें। जो करते नारी को शर्मसार, ऐसे पापिष्ठों से ...
BEPARWAH
🙏प्रणाम हैं मान्यवर आपको।
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.