यह कैसे हुआ?

शशि सिंह

यह कैसे हुआ?
(22)
पाठक संख्या − 1835
पढ़िए
निम्मी सिंह
Driving start karne se pehle to meri bhi yahi haalat thi... par ab husband k support se i can ride well.
Nikita Rahul
Acha h... pr jb 2005 me scooty AI to AJ use 15 year kese ho gya... 12 hua na... or Dusri bat agr koi cheej krne ki than lo to zroor HOTA h... Mene bhi scooty bike car ab Apne Ghar walo se LD kr sikha hr koi drata that k nhi for jaogi gadi kharoc LG jayegi accident ho Jayega... vgerh vgerh... but AJ JB bike lekr rode pr jati Hu to log dekhte h wah wah krte h k ek ldki wo bhi bike or ESI vesi nhi hunk splendor. avengers... jese... thanku bhagvan itni himmat ke liye
कान्हा की सुभद्रा
शशि जी इतनी स्पष्टता से अपने डर को कबूल कर और बाहर निकलने के लिए बधाई स्वीकार करें हमने तो कभी साइकिल भी नहीं चलाई फिर भी गिरते पड़ते सीख गई ☺
रिप्लाय
Lily Chowdhary
Very good
रिप्लाय
रचना सक्सेना
बहुत अच्छे ढ़ग से अपनी अनुभूति को चित्रित किया है ।वास्तव मे आत्मविश्वास की कमी हमे काफी पीछे ढ़केल देती है और आत्मविश्वास की कमी मानव की पहली कमजोरी है ।आपका यह कथानक आत्मविश्वास पैदा करने वाला सफल कथानक है ।आपको बहुत बहुत बधाई।
रिप्लाय
संध्या तिवारी
अच्छी कहानी ।
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.