लव ऐट द एज ऑफ़ सेवेनटीन

शशांक भारतीय

लव ऐट द एज ऑफ़ सेवेनटीन
(74)
पाठक संख्या − 9018
पढ़िए
लाइब्रेरी में जोड़े

सारांश

उसने गाना ख़त्म किया और मुस्कुरायी. मुस्कुराती “वो” पांच साल पहले भी थी. दिक्कत तो यही थी की बस मुस्कुराती ही तो थी…मैं भी मुस्कुरा देता था… मेरे दोस्त भी मुस्कुरा देते थे… इंटरमीडिएट के उन दिनों में मुस्कराहट फ़ैल गयी थी. विकासनगर की शाम कुछ ऐसी लगती थीं की मेरे मुहब्बत की दास्तान के लिए ही हों.
deeksha
awsm lv story...i like it
Alka
its confusing. us ladki ne kya ans diya wo to pta b ni chala
Sonia
खूबसूरत अहसास
Anoop
बहुत खूब
parul
beautifully written
Kanishka
स्कूल के दिन याद आ गए सर
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.