क्यों सिया ही क्यों ??

सीमा असीम सक्सेना

क्यों सिया ही क्यों ??
(65)
पाठक संख्या − 15353
पढ़िए
Sunil Verma
बेहतरीन कहानी
shani gupta
आगे की कहानी का इंतजार रहेगा
santosh
समाज की हकीकत रूबरू कराती हुई आपकी कहानी🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
सालिक अनवर
कहानी अच्छी है मगर हर्ष के इंकार को और दृढ़ता से उकेरना चाहिए था। शब्द संयोजन खूबसूरत है। कहानी मानसिक पीड़ा को प्रदर्शित करने से ज्यादा औरत की कुण्ठा को दर्शाती है जो उसे उसकी मर्यादाओं को लांघने के बदले ही नसीब होती है। भोग के मामले में मर्द तो कुत्ता होता ही है।
arsalan khan
sab sachayi hai aj ke samaj ki
Abha Raizada
नारी की विडंबना का सशक्त चित्रण...
Ram Dwivedi
अच्छी प्रस्तुति
tarun Agrawal
बहुत ही सुन्दर कहानी।।।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.