पीपल यू मे नो

सन्दीप दुल्हेड़ा

पीपल यू मे नो
(91)
पाठक संख्या − 3009
पढ़िए

सारांश

अर्पित भी स्कुल से लेकर कॉलेज तक थोड़ा शर्मीले स्वभाव का ही रहा था, लड़कियां दोस्त रह चुकी थी उसकी पर केवल असाइनमेंट बनवाने तक से लेकर पिज्जा खाने तक के लिए ही। वैसे भी अर्पित के पास बात करने को ज्यादा कुछ होता नही था लड़कियों के साथ तो हमेशा से थोड़ा रिज़र्व ही रहा था। पर ना जाने क्यों इस 'एन्की एंजेल' में आजकल रूचि हो रही थी उसकी। खैर बात चैट से लेकर अब और आगे जा चुकी थी। कोई फोटो अच्छा नही लगता अगर 'एन्की ' को तो अर्पित डिलीट कर देता था , 'एन्की' के पेज पर शेयर हर पोस्ट को दिल और दिमाग लगा कर पढता था।
DrAshutosh Dwivedi
Nice happy ending. hihihi
Bhawesh Rajpal
आज के समय की सत्यता को दर्शाती रोचक कहानी !
Sandhya Mathur
हकीकत
रिप्लाय
Utsav
Bahut Badiya likha h sir
रिप्लाय
Vijay Hiralal
good
रिप्लाय
निम्मी सिंह
Very interesting story
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.