बलात्कार

जाड़े के दिन थे रात के 9:00 बजने वाले थे, अनीता अभी तक ट्यूशन क्लासेस से वापिस नहीं आई थी। अनीता की मां को घबराहट होने लगी क्योंकि अनीता अक्सर 8:00 बजे तक लौट आया करती थी, उसे इतनी देर कभी नहीं हुई थी। तभी अचानक दरवाजे की घंटी बजी, अनीता की मां ने उठ कर दरवाजा खोला दरवाजे पर अनीता खड़ी थी, अनीता घबराई हुई थी उसके हाथ और पांव पर हल्की चोट के निशान थे और उसके कपड़े भी फटे हुए थे। अनीता की मां उसकी हालत देखकर घबरा गई और उसने उससे उसकी इस हालत का और देर से आने का कारण पूछा। अनीता काफी घबरा गई और रोने लगी वह बोली उसके ट्यूशन वाले मास्टर ने उसके साथ बलात्कार किया है। अनीता की मां अनीता की बात सुनकर घबरा गई और रोने लगी, उसने अनीता के पापा के घर आते ही उसको सारा हाल बताया।

अनीता के साथ बलात्कार की बात सुनकर अनीता के पापा आग बबूला हो गए, उन्होंने उस ट्यूशन टीचर को उसकी नीचता के लिए कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने का फैसला किया, वह अनीता को  अपने साथ पुलिस थाने ले गए।

थाने जाकर उन्होंने उस ट्यूशन वाले मास्टर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई, शिकायत दर्ज करके पुलिस वाले अनीता को अपने साथ अस्पताल ले गए डॉक्टरी जांच हेतु डॉक्टरी जांच के बाद जब अनीता और उसके पिता थाने लौटे उनकी मुलाकात थाना अध्यक्ष से हुई, थानाध्यक्ष अनीता के पापा के पुराने मित्र निकले। अनीता के पापा ने सारी व्यवस्था थाना अध्यक्ष को बताई, थाना अध्यक्ष ने तुरंत पुलिस का दस्ता मास्टर को गिरफ्तार करने के लिए भेज दिया।

पुलिस द्वारा जब मास्टर को पकड़कर थाने लाया गया तो वह काफी रो रहा था और एक ही बात कह रहा था कि उसने कुछ नहीं कियाथानाध्यक्ष ने उस मास्टर को अपने कक्ष में बुलाया और उसकी नीचता के लिए उसे खूब लताड़ा लेकिन मास्टर अपनी बात पर अड़ा रहा कि उसने कुछ नहीं किया, अनीता झूठ बोल रही है  और अनीता तो आज क्लास के लिए भी नहीं आई थी। थाना अध्यक्ष काफी समझदार और तजुर्बेदार आदमी था, उसने मास्टर के बार-बार बोलने पर जांच अधिकारी को अपने कक्ष  में बुलाया और उससे मामले की निष्पक्ष जांच करने को कहा।

जांच अधिकारी मामले की जांच में लग गया, जांच के दौरान जांच अधिकारी ने उस मास्टर और अनीता की सोसायटी की सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली। सीसीटीवी फुटेज देख कर जांच अधिकारी हैरान रह गया। मास्टर की सोसायटी की फुटेज से यह साफ हो गया कि अनीता उस दिन मास्टर के घर क्लास के लिए नहीं गई थी और और अनीता की सोसायटी की फुटेज से पता लगा की रात को लगभग 9:00 बजे उसे एक गाड़ी उसकी सोसायटी के मुख्य द्वार पर छोड़ कर गई थी। जांच अधिकारी ने सारी बात आकर थानाध्यक्ष को बताई थाना अध्यक्ष ने तुरंत अनीता और उसके पिता को थाने बुला लिया। थाने में अनीता से सख्ती से पूछताछ की गई, पूछताछ के दौरान अनीता टूट गई और उसने सारी सच्चाई बता दी। अनीता ने कहा कि उस दिन वह अपने मित्र रोहन के साथ अपनी मित्रता सेलिब्रेट करने गई थी और रात को घर आने में देर हो गई तो वह घबरा गई और उसने बलात्कार की झूठी कहानी अपनी मां को बता दी। उसके बाद पुलिस ने रोहन को थाने बुलवाया, रोहन ने पुलिस को बताया अनीता और उसकी मित्रता लगभग एक महीना पहले फेसबुक पर हुई थी और उस दिन वह दोनों शिप्रा मॉल में अपनी मित्रता का पहला महीना सेलिब्रेट करने गए थे, अनीता ने ज्यादा शराब पी ली थी और वह मॉल के बाहर गिर गई थी, जिससे उसकी ड्रेस भी हल्की फट गई।  उसने आगे बताया कि वह अनीता को अपनी गाड़ी में नशा हल्का होने तक बिठाकर घूमता रहा और नशा हल्का होने पर उसने अनीता को उसकी सोसायटी के पास छोड़ दिया और वह अपने घर चला गया।

अब तक यह बात साफ हो चुकी थी वह मास्टर निर्दोष है और अनीता झूठ बोल रही है अनीता की मेडिकल जांच की रिपोर्ट भी आ चुकी थी रिपोर्ट में दो चीजें निकल कर सामने आई। पहली यह की अनीता के साथ कोई जोर जबरदस्ती नहीं हुई थी और दूसरी यह कि अनीता इज नॉट वर्जिन।

अनीता के मां-बाप का सिर शर्म से झुक गया और वह फूट फूट कर रोने लगे, उन्होंने उस मास्टर से अनीता की  ओछी हरकत के लिए माफी मांगी। मास्टर ने भी अनीता को माफ कर दिया और पुलिस से कहा इस मामले में अनीता के खिलाफ कोई भी कानूनी कार्रवाई नहीं की जाए।

पुलिस ने उस मास्टर को छोड़ दिया और कोर्ट में मुकदमे की कैंसिलेशन रिपोर्ट दाखिल कर दी

hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.