राजू को ऐसा लगा कोई उसे पलंग से उठाकर फेंक रहा हो। घबराकर राजू ने आंखे खोली। दीवार पर टंगी हुई तस्वीर हिल कर नीचे गिरी। पलंग अब भी हिल रहा था। तभी उसे समझ आया कि ये ंतो भूकंप है। उठ कर खड़ा होने लगा तो गोल-गोल घूमने लगा।
‘‘ अरे ! श्रीधर उठ, भूकंप आ गया लगता है। ’’ कह कर चिल्लाया। इतने में पत्नी भी घबरा कर उठ गई। बोली ‘‘जल्दी करो जी ! मैं छोटू को गोद में लेकर जा रही हूं आप आईये ! जल्दी कीजियेगा! जल्दी ! बाहर आ जाओं।’’ भूमिका कहते हुए बाहर जाने की जल्दी करने लगीं। पर सब कुछ हिलने के कारण दरवाजे को खोलना ही मिष्कल हो रहा था।
बड़ी मुष्किल से तीनो घर के बाहर आये तो देखा सभी लोग अपने अपने घर से बाहर निकल कर घबरायें हुए सड़क पर खड़े होकर बातें कर रहें थे। क्या करें! किसी के कुछ समझ नहीं आ रहा था।
अचानक लाइट का खम्भा गिरा। उनके घर की दीवार भी गिर गई। ‘‘ अरे ! अरे ! मेरा सिर घूम रहा है।लीजियेगा! बच्चे को आप पकड़ियेगा ! ’’ भूमिका के ऐसे कहते ही उसने बच्चे को लेने जैसे ही हाथ बढाया तो उसकी निगाहें अपनी कोहनी से उंगलियों तक गई ,जहां गांठे ही गांठे बनी थी। उसे देखते ही उसके दिल में जाने क्या होने लगा।
जब वह छोटा था तब वे लांंग झोंपड़े में रहते थे। एक दिन अचानक झोपड़े में आग लग गई। राजू झोपड़ें में सो रहा था। वह घबरा कर उठा तो देखा चारों तरफ धुआं के कारण अंधेरा था व कुछ भी दिखाई नही दे रहा था। वह जोर-जोर से रोने लगा। बाहर लोंगो की चिल्लाने की आवाज आ रही थी। काम पर गई मां को अचानक जाने क्या हुआ भाग कर घर आई तो झोपडी को जलते देख अन्दर जाने लगी। तब लोगों ने उसे रोका ‘‘अंदर मत जा, तुम भी जल जाओंगी ।’’वह मां नहीं रूकी अपने लाल को पुकारती हुई भाग कर जलते झोपड़े के अंदर जाकर अपने बेटे राजू को लपेट कर बाहर आई। फिर दोनों को ही अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। कई दिनों बाद ही अस्पताल से घर आए। उसकी मां ही ज्यादा जल गई थीं।
एक ही मिनिट में ये बातें उसके हाथ के निषान ने उसे याद दिलाई।
अपने घर की दीवार के गिरने के बावजूद किसी का भी कहना न मानते हुए राजू अपने घर के अंदर भागा, ‘‘अपनी मां जिसने मुझे जन्म दिया उसे मैं कैसे भूला ? ’’ कहते हुए चिल्लाता रोता हुआ ‘‘अम्मा...मां.... मां....बौखलाया हुआ छत पर सो रही अपनी मां जो बेहरी होने से सुन भी नहीं सकती थी, उसे बचाने के लिए राजू दौड़ा।

hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.