सुनकर मेरे गमों दर्द को
वो मेरे गम को बाटने आ रहे हैं
जख़्म देकर वो जख्म पर
मरहम लगाने आ रहे
रोक ले कोई उन्हे -२
वो फिर से प्यार का ख़ज़र
जख़्म पे घुसाने आ रहे है |
हॉ हॉ
नजरे ही दिल को
कमजोर बना देती हैं
यूहीं किसी को दिल में
बसा लेती हैं ||

hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.