सच्चा प्यार कभी खत्म नही होता

रिया को पता चल गया था कि रोहन उससे प्यार करता है ,लेकिन वो रोहन के मुह से ये बात सुनने को बेचैन थी , अगले दिन उसने रोहन से कहा ; तुम इतने सालो से मेरी हेल्प करते हो कभी कुछ मागे भी नही कोई स्वार्थ न है ,आखिर तुम दोस्त ही मानते हो या उससे ज्यादा। रोहन बस रिया की बात चुपचाप सुन रहा था ,उसने कुछ बोलने की वजय आज फिर बात को घुमा दिया ,क्यों रिया दोस्ती से भी ज्यादा कुछ होता है क्या बता दो , ओर फिर हमेसा की तरह प्यार से लड़ते हुए दोनों घर चले गय । रिया को ये बात परेसान कर रही थी कि आखिर रोहन दिल को बात कह क्यों नही रहा ,, और उधर रोहन भी बेचैन था कि आज तो दिल की बात कह देना था ,लेकिन वो डरता था कि रिया उसे छोड़ न दे और दूर न हो जाये , अब तो रिया ने उसके मुँह से कल बुलवा के ही रहूँगी इस प्लान के साथ लाइब्रेरी की ओर चल दी।। रिया लाइब्ररी में भी रोहन के बारे में ही सोच रही थी ,की आखिर सिर्फ दोस्ती के लिये रोहन इतना क्यों करेगा , लेकिन रोहन रिया को बहुत मानता था क्यों कि वो उसकी जिंदगी में उस समय आयी थी ,जब रोहन को किसी की सबसे ज्यादा जरूरत थी ,लेकिन रोहन अपनी जरूरत न तो बताता था न ही कोई समझ पाता था। उसी समय रिया उसकी जिंदगी में आई ,एक लाइब्रेरी में दोनों ने एक दूसरे को देखा था ,रिया को उसकी आँखों मे दर्द तो दिखता था ,लेकिन कुछ ही दिन हुई थे दोस्ती को तो पूछने में अजीब सा लग रहा था , उसने नही पूछा बस रोहन को दिनभर अपनी मस्ती और लड़ाई में ही बिजी रखती थी । दोनों एक दूसरे के साथ आना जाना करने लगे अब रोहन भी अपना दर्द भूलने सा लगा था , और रिया के साथ 3 साल बीत गया दोनों को एक दूसरे के साथ 3 साल बीत गया पता ही न लगा। अब दोनों को एक दूसरे की आदत सी हो गयी थी , और प्यार भी । दोनों बस एक दूसरे के बारे में ही सोचते ,मिलने को ज्यादा बेचैन होते लेकिन दिल की बात कहने से डरते थे , अब रिया ने सोचा उसके दिल की बात बुलवा के रहेगी और रोहन को मिलने बुलाया , जब रोहन आया तो उससे रिया ने कहा मुझे आज लड़के वाले आ रहे है तुम भी आना। रोहन ये बात सुनके कुछ बोल ही न पाया और काम का बहाना करके निकल गया ,और घर आकर रोने लगा , अब रिया भी उधर रोयी जा रही थी उसे लगा था अब तो प्यार का इज़हार कर देगा लेकिन रोहन ने नही किया... फिर रिया ने उसे बुलाया , और जब रोहन आया मिलने तो उसने कहा तुम मुझसे प्यार नही करते मुझे लगा था कि तुम प्यार करते हो बस इसलिये झूट कहा था लेकिन तुम........ ये बात सुनकर रोहन बहुत खुश हो गया कि रिया ने मजाक किया था ,और ये बात सुनके और भी खुश की रिया उसके प्यार को समझ गयी थी बस उसके मुंह से सुनने के लिये इंतज़ार कर रही थी। उसने कहा पागल जब तुम्हे लगता था कि मैं प्यार करता हूँ , तो तुम तो मुझसे ज्यादा मुझे समझती थी न  और तुम्हें खुद पे भरोसा न था क्या ?

hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.