आखिर कब तक ?

रश्मि तरीका

आखिर कब तक ?
(87)
पाठक संख्या − 35407
पढ़िए
लाइब्रेरी में जोड़े
Vivek
bahut hi achchi story
Sonam
hmare samaj k liy upyogi h ye story..very nice
धर्मेंद्र
लाजवाब .. जो औरत संसार को चलाने में बराबर की भागीदार होती है .. फिर क्यों वो पुरुषों की गलत सोच का शिकार होती है......? एक कड़वी हकीकत को आपने कहानी के माध्यम से दिखाया है...
Suman
heart' touching , eyes are wet
sanjay kumar
a remarkable story with humanitarian end.
Sarita
dil ko chhu liya writer ne
Babar Baig
Beautiful lesson for those who does not like girlchild.
Puspendra
heart touching story
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.