दूसरा थप्पड़

रंजना जायसवाल

दूसरा थप्पड़
(210)
पाठक संख्या − 12869
पढ़िए
Reena Sharma
आत्मसम्मान हर औरत मे होता है बस उसे जगाने की जरूरत है।बहुत बढ़िया ।
रिप्लाय
nidhi singh
bahut achha likhti h aap ranjna
रिप्लाय
Tajeswita Gupta
I read so many stories on this app but it was the only one which left me speechless and see still I am writing this review. heart touching
रिप्लाय
Alka Mishra
t
रिप्लाय
shashikant shukla
shandar
रिप्लाय
Kamlesh Kumar Rawat
बहुत ही शानदार रचना, मन के भावो को सलीके से कड़ियों में पिरो कर रचना लिखी है आपने , दिल को छू लेने वाली अत्यंत मार्मिक रचना लिखने के लिए धन्यवाद
रिप्लाय
कविता वर्मा
बहुत बढ़िया कहानी
रिप्लाय
Namrata Thakur
Nice story
रिप्लाय
Sanghamitra Majhi
I'm speechless
रिप्लाय
Rajni Gupta
very nice
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.