मेरा रेप हुआ था!

प्रिया गर्ग

मेरा रेप हुआ था!
(93)
पाठक संख्या − 16808
पढ़िए
लाइब्रेरी में जोड़े
vinita
good
रिप्लाय
Anish
bold विषय पर लिखा है... पर end कमज़ोर कर दिया... सीडी को पहले भी दिखाया जा सकता था... suiside करवा के कहानी कमज़ोर कर दी i said what i felt, sorry if it hurts...👐
रिप्लाय
Chander
एक ऐसा विषय उठाने के लिए आपका धन्यवाद जिस पर साधारणतया कोई विचार नहीं करता ज्यादातर अविश्वास ही करते है। एक बदसूरत हकीकत को बड़े ही सुंदर कथानक में पिरोया है आपने। आभार
रिप्लाय
Sonam
khud ek ladki hu isliy smjh nhi aa rha ki kya likhu pr aisi ladkiyo ko jo b sja di jaye km hogi..
रिप्लाय
પાગલ
Aapki story bahut hi achchhi hai
रिप्लाय
Krishna Sharan
very nice
रिप्लाय
Rahul
सुन्दर कथानक। अन्तिम हिस्सा कुछ शिध्रता में लिखा मालूम पड़ता है।
रिप्लाय
विशाल
सबसे पहले इस कहानी के लिए आपको बधाई। वैसे तो मै कोई लखेक नहीं हूँ,न ही लिखने के बारे में कुछ जानता हूँ ।लेकिन कहनियाँ मुझे बचपन से ही पसंद रही है।मेर लिए इस कहानी का सबसे अहम भाग है,जो विषय आपने चुनी है और उसके साथ आपनें न्याय भी किया है। ।।धन्यवाद।।
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.