दो दिलों की दास्तान

मोना कपूर

दो दिलों की दास्तान
(10)
पाठक संख्या − 6138
पढ़िए

सारांश

दिल से बना दिल‌ रिश्ता जो कभी न टूटे
Ankush Kumar
वैसे तो मै टीनएजर हूं फिर भी कहानियां उपन्यास पढ़ना मेरा बचपन का होबी है आपकी कहानी पढ़ के अगर मुझे कुछ हुआ तो ये कि मै बहुत ही स्तब्ध हूं भला इतना सिम्पल कैसे हो सकता है हा हो सकता है क्यूंकि जब उपर वाला ही मंजूर था तो कठपुतली क्या कर पाएंगे गलती बॉलीवुड की है हर लव स्टोरी फिल्म में एक विलन जो दाल देता है 😀😀😀
Amita Kashyap
Nice , kaash ki sabki jindgi itni aassan ( easy) ho jaaye
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.