कैसे बताये क्यों तुमको चाहे

खुशबु जैन

कैसे बताये क्यों तुमको चाहे
(299)
पाठक संख्या − 34025
पढ़िए
Ajit
सच्चा प्यार !!!!!
Ashish kumar
दिल को छू गयी
abhi kumar
ending galat hai, bilkul galat.. agar cd thi toh usko dikhana chaiye tha apne paksh mai.. suicide karna koi logic nahi hua.. I don't agree with this.. yeh kya logic hua ki ek burai ko dikhane ke liye hum doosri burai ko highlight kar rahe hai...
Vikas Mahto
बढ़िया सुन्दर शब्दाकंन भावों का.
Dhanraj Tak
hello khoosbu ji kese likh paye itna sunder
anurag verma
प्यार इस बात से तालुक नही रखता की आप बाहर से कैसे है...वो तो एक प्यारा सा एहसास है जो किसी से भी हा सकता है...
shubhi
beautiful story...pyar me nazdikiyan mayne nhi rakhti...pyar to sirf ek ehsaas h .jo kisi kisi ke liye dil me ahsaas ho to insaan puri umra us ahsaas k saath jee sakta h.
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.