जिंदगी ....

मनीषा गुप्ता

जिंदगी ....
(2)
पाठक संख्या − 148
पढ़िए

सारांश

ख़ामोशी से पन्नों पर लिख दी जिंदगी .... कुछ आरज़ू लिखी कुछ ज़ुस्तज़ू लिखी ... या यूँ कहिए जो बीत गई वो पूरी एक सदी लिखी .
Deepak Shivhare
good story
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.