अवारगी

मनीषा गुप्ता

अवारगी
(5)
पाठक संख्या − 184
पढ़िए

सारांश

क्यों तुम मेरे जज़्बातों को रेत के घरौंदों सा बिखेर जाते हो ।
Suraj Kumar
par kya ladki ko raj se pyaar tha
swaraj prasad
सरल रचना है. लय ठीक है. परंतु पद्द बहुत छोटा है. कुछ निष्कषॆ निकल कर नहीं आया.
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.