मैं तुझसे प्यार नही करती

कविता जयन्त श्रीवास्तव

मैं तुझसे प्यार नही करती
(35)
पाठक संख्या − 6487
पढ़िए
Vijay Hiralal
samjhata kabhi kabhi accha hota hai. bahut hi sunder kahani.
पूर्णिमा राज
बहुत सुन्दर रचना
रिप्लाय
Rama Mishra
Nice
रिप्लाय
Shiv Pandey
आपकी छुवन हमे भी छू गयी
रिप्लाय
शशांक भारतीय
आह कितना खूबसूरत लिखती हैं आप। धन्यवाद प्रतिलिपि का आपकी लेखनी को हमारे बीच लाने का।
रिप्लाय
ritu dahiya
Just awesome.....
रिप्लाय
Arti Yadav
Nice Story
रिप्लाय
umesh chander yadav
Very nice Story
रिप्लाय
Monali Sharma
Very nice
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.