चल भाग चल, जिंदगी से...

जयंती रंगनाथन

चल भाग चल, जिंदगी से...
(59)
पाठक संख्या − 7304
पढ़िए
Raj Gupta
बहुत ही उम्दा कहानी। अभय के मनोभाव और उसकी बेचारगी का बहुत ही बढिया रेखांकित किया है।
H. raaghav
plot was good but lacked critical details
Anish Jain
आप हर चीज़ को एक दूसरे ही अंदाज़ में देखती हैं क्या...????!!! डर लगने लगा है... हा हा हा हा हा हा हा...
priyanka
no wrds..👌👌
itishree
bahut hatke h story.👌👌👌
Harshit Gupta
brutal reality of today's society
Kushbu Sharma
aaj kal kis pe visvass nahi kiya ja sakta h
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.