जयंती रंगनाथन
प्रकाशित साहित्य
5
पाठक संख्या
48,931
पसंद संख्या
1,614

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

मूलत: दक्षिण भारतीय जयंती रंगनाथन की परवरिश लौह शहर भिलाई नगर में हुई। एमकॉम मुंबई से किया और वहीं से अपने कैरिअर की शुरुआत जानीमानी हिंदी पत्रिका धर्मयुग से की। लगभग दस वर्षों तक इस पत्रिका से जुडऩे के बाद तीन साल तक सोनी एंटरटैनमेंट चैनल में बतौर आयडिएशन मैनेजर काम किया।   19९७ में मलयाला मनोरमा समूह की पहली महिला पत्रिका वनिता का संपादन करने मुंबई से दिल्ली चली आईं। पत्रिका ने सफलता के नए कीर्तिमान बनाए। वहां सात साल रहने के बाद दैनिक अमर उजाला में फीचर संपादक का पदभार संभाला।   तीन उपन्यास आसपास से गुजरते हुए (राजकमल), औरतें रोती नहीं(पेंगुइन/यात्रा) से प्रकाशित और खानाबदोश ख्वाहिशें (सामयिक) से प्रकाशित। गृह मंत्री चिदंबरम के आर्थिक विषयों पर लेखों का संकलन भारतीय अर्थ व्यवस्था पर एक नजर: कुछ हट कर का अनुवाद पेंगुइन से प्रकाशित। पिछले दस कहानियों का संकलन एक लडक़ी: दस मुखौटे सामयिक प्रकाशन से प्रकाशित इसके अलावा कई संकलनों और कहानी संग्रहों में आलेख और कहानियां प्रकाशित। देश के  अग्रणी पत्र पत्रिकाओं (धर्मयुग, सारिका, हंस, नया ज्ञानोदय, कथादेश तथा प्रमुख अखबारों में लेख, स्तंभ आदि)में 1000 से अधिक कहानियां और लेख प्रकाशित।   संप्रति: दैनिक हिंदुस्तान में सीनियर फीचर्स एडिटर एवं बच्चों की पत्रिका नंदन की संपादक


Vivekanand Mishra

1 फ़ॉलोअर्स

Radheshyam Yadav

0 फ़ॉलोअर्स

Neeraj Upadhyay

2 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.