डॉ तनु वेड्स डॉ मनु ( हमारी अधूरी कहानी )

डॉ. मनीष गुप्ता

डॉ तनु वेड्स डॉ मनु ( हमारी अधूरी कहानी )
(81)
पाठक संख्या − 8817
पढ़िए

सारांश

ये जरुरी कतई नहीं की हर प्यार का अंत सुखद ही हो / जो सबसे जरुरी है वो ये की आपका प्यार तो सच्चा है और इसके आगे कोई भी चीज मायने नहीं रखती / आप लोग सोच रहे होंगे कहानी का दूसरा नाम डॉ तनु वेड्स डॉ मनु क्यूँ वो इसीलिए की तनु ने ही हमें मनु नाम दिया और तनु ही केवल हमें मनु बुलाती है और कोई नहीं / और मन से तो हम एक दूसरे को पति पत्नी मान चुके है / तो हुआ ना डॉ तनु वेड्स डॉ मनु / पूरी कहानी समझने के लिए इसका पहला भाग जरूर पढ़ें / सारे पाठकों का मैं तहे दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा जो उन्होंने मेरी कहानी को इतना पसंद किया और बहुत अच्छे सुझाव दिए / पर एक बात मै उनको बताना चाहूंगा या पूंछना चाहूंगा किसी भी कहानी का उद्देश्य सिर्फ मनोरंजन ही है मुझे लगता है आप कुछ भी लिखो उस बात से समाज में एक सन्देश जाना चाहिए / और उस बुराई या कुरीति का हम सामना कैसे करेंगे इसका साहस भी मिलता है /
PRINCE SINGH
kya bat h dr. sahab ab toh aapki tannu ki shadi ho gyi hogi aur aap uske gm me honge aapki kahani ne toh emotional kr diya
रिप्लाय
Savita Singh
बहुत किस्मत वाले होते हैं वो लोग जिन्हें अपना प्यार मिल पाता है। अधिकांश लोग तो अपनी अधूरी मुहब्बत को दिल में दफन किए हुए ही इस दुनिया से चले जाते हैं।
रिप्लाय
Yashu Mawase
real life me bhi asa hi hota hai...
रिप्लाय
Ranjeev Kumar
कभी कभी ऐसा भी होता है।
भारती पाण्डेय
Heart touching story
रिप्लाय
ashok kumar agrawal
v.good theam
रिप्लाय
Anju Soni
जिंदगी मे किसी से पयार न करना हो जाए तो इंकार न करना निभा सको तो आगे बड़ना वरना किसी की जिंदगी खराब न करना
रिप्लाय
Jagmohan Rajput
भावुक कर दिए आपने डाक्टर साहब.... पूरी कहानी जैसे मेरी अपनी कहानी लग रही थी..
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.