दीपक कुमार सोनी
प्रकाशित साहित्य
34
पाठक संख्या
32,436
पसंद संख्या
4,592

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

एक लेखक के ज़िन्दगी में शब्दों के सिवा और कोई कारगर माध्यम नहीं होता अपने मन के असीम विचारों को संसार में लाने का अर्थात वह विचारों को शब्दों में पंक्तिबद्ध करके नए कहानियों को सृजित करता है साथ हीं वर्तमान में घटित घटनाओं को अप्रत्यक्ष तरीके से समाज में प्रस्तुत करता हैi एक लेखक होना एक गौरव है तो इसमें ज़िम्मेदारियाँ भी हैं i मुझे ख़ुशी है कि माँ सरस्वती का आशीर्वाद मुझपर हैi अपने बारे में स्वयं बताना गलत होगा, फिर भी मेरे बारे में इतना हीं कहूंगा कि मेरी कला में बाल्यकाल से रूचि, हिंदी से गहरा लगाव.... मुंशी प्रेमचंद की कहानियों में सर्वाधिक रूचि हैi और जीवन से जुड़ी कहानियों को लिखना मुझे अच्छा लगता हैi


चंद्र पवार

2 फ़ॉलोअर्स

Sumayya Kidwai

3 फ़ॉलोअर्स

Neelam Buber

2 फ़ॉलोअर्स

ÆJàý Mìšŕã

0 फ़ॉलोअर्स

Awadhesh Tripathi

0 फ़ॉलोअर्स

shadab

0 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.