साम्प्रदायिक लव

आकाश गौरव

साम्प्रदायिक लव
(42)
पाठक संख्या − 8533
पढ़िए

सारांश

गर इश्क़ आंखों ही आंख में पले और एक रात में ही पल के जवां हो जाए तो क्या होगा ?
Rajababu Kushwaha Vidyarthi
jay shree ram yar kar leta dhadi use panditani bna kar kam se kam ek musalman to kam hota
adikizara
achi story hai par pyaar Dharm ka mohtaj nai hona chahiye.............pyaar sirf dilo se hota h dilo k bich Dharm ka isme kya kaam
शुभम शर्मा 'पंडित'
बाभन का लौंडा और लड़की मुस्लिम....कॉम्बिनेशन तो गजब का होता है....भाई हीरो अगर 7 साल साखा का फर्ज निभाते हुए ""लव जिहाद"" कर जाता तो मजा आ जाती
Yashwant Prajapat
Story is Good... There is no religion of love
Shashi Raizada
एक अच्छा प्रयास, पर... हिन्दी में लिखते समय गलतियाँ न हों, तो चार चांद लग जाएंगे ।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.