मर्डर इन गीतांजलि एक्सप्रेस

विजय कुमार सपत्ती

मर्डर इन गीतांजलि एक्सप्रेस
(81)
पाठक संख्या − 46702
पढ़िए
लाइब्रेरी में जोड़े
neeru
बेहद सधी हुई और रोचक रचना।
vikram
बहुत बढ़िया
S.Srivastava
इस कहानी पर फ़िल्म बनाई जा सकती है।..
sagar
मस्त स्टोरी है।
Narendra
शानदार
rasika
very very nice!! sir aapne bahot acchi story likhi hai...very intresting...aur ye bhi bata diya ki kabhi kisi ke sath bura nhi karna chahiye....
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.