वेश्या नहीं

सुभाष नीरव

वेश्या नहीं
(25)
पाठक संख्या − 9159
पढ़िए
लाइब्रेरी में जोड़े
Dipti
kahani aachi hai,pr thodi or chaiya
Vijay
Shandar.Nari ko sabhi aisa ku samajhte hai . kab badle ki aisi soch
Dayaram
yes west
रिप्लाय
santosh
one of the stories
Umesh
Very inspiring, nari ko sat sat naman
Varun
uffff!
रिप्लाय
Sonu Kumar
behad satik kahani...pal bhar me hi begana kar diya salo ka ankaha rista..
रिप्लाय
Mirza
satik ....chitr ankit kiya hai sir..grt
रिप्लाय
विरासनी
नारी मन को बहुत सुंदर अबिवेचना
रिप्लाय
Dibya
काफी अच्छा लिखा है.
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.