" पापा मुझे आगे आई पी एस की तैयारी करनी है | मेरा सपना है पापा " |

" नही नही लड़कीयां ज़्यादा पढ़ लिख क्या करेंगी | इंटर कर लिया ना अब घर का काम काज देखो | वैसे भी माहौल ठीक नही पढ़ाई के बहाने ज़्यादा बाहर आना जाना सही नही " |

तभी फोन बजता है पापा नैना की बात सुने बिना अपनी बात को अटल फैसला बता कर फोन उठाते हैं " हां हैलो मेहता जी | आपको भी स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई हो " |

आज़ाद भीरत की एक और गुलाम बेटी कमरे में पड़ी रो रही थी बाहर लोग आज़ादी का दश्न मना रहे थे |

hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.