दूसरा थप्पड़

रंजना जायसवाल

दूसरा थप्पड़
(22)
पाठक संख्या − 8302
पढ़िए
लाइब्रेरी में जोड़े
Vibha
Awesome... story..
अजित
प्रेम है ये
डॉ. मनीष
आत्मिक मिलन
Dheeraj
good one and good end.
sangita
बहुत ही गहराई से स्त्री पुरूष के दैहिक से आत्मिक संबंधों को बंया करती कहानी
Sandhya
different
रिप्लाय
मधुलिका
आज के आधुनिक जीवन की सच्चाई केअनुरूप बढती कहानी --पर विस्तरित अधिक है । कथानक पर पकड़ भी अच्छी है
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
+91 8604623871
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.